July 20, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

Month: February 2022

देहरादून: यूक्रेन व रूस के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है। हर तरफ बम व गोलियां बरस रही हैं। हर भारतीय चाहता है कि उसकी जल्द से जल्द वतन वापसी हो। लेकिन यूक्रेन में उत्तराखंड का एक ऐसा युवक भी है, जोकि डॉगी के बिना उत्तराखंड नहीं लौटना चाहता। उत्तराखंड के देहरादून निवासी ऋषभ कौशिक खारकीव नेशनल यूनिवर्सिटी आफ रेडियो इलेक्ट्रानिक्स से साफ्टवेयर इंजीनियर की पढ़ाई कर रहा है।उन्होंने एक डॉगी को पाला है, जिसका नाम मालीबू है। एंबेसी ने उनसे अकेले भारत जाने की बात कही तो उन्होंने अकेले जाने से पूरी तरह से इंकार कर दिया। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि वह मालीबू के बिना भारत नहीं जाएंगे। कहा कि उन्हें पता है कि यूक्रेन में हालात ठीक नहीं हैं। भारतीय दूतावास से यदि इजाजत मिलेगी तो वह दोनों भारत लौटेंगे। ऋषभ ने यह भी कहा उत्तराखंड के कई छात्र यूक्रेन में फंसे हुए हैं, लेकिन एंबेसी सीधे मुंह बात तक नहीं कर रही है। वह उत्तराखंड लौटने के लिए हर जगह संपर्क कर चुके हैं, लेकिन अब तक निराशा ही हाथ लगी है।

देहरादून: यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों के रोमानिया बार्डर पर पहुंचने पर वहां मौजूद नाइजीरिया व साउथ अफ्रीका…

देहरादून: प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व हरिद्वार के सांसद डा. रमेश पोखरियाल निशंक ने रविवार को दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इस मुलाकात को लेकर राजनीति गलियारों में चर्चाएं गर्म हो गई। सूत्रों की मानेंं तो मुलाकात के दौरान 10 मार्च को विधानसभा चुनाव के आ रहे परिणामों पर करीब एक घंटा चर्चा हुई। भाजपा अध्यक्ष ने निशंक से चुनाव की स्थिति व प्रदेश की 70 सीटों के बारे में चर्चा की। जानकारों की मानें तो भाजपा-कांग्रेस के बीच इस बार टक्कर कड़ी है। ऐसे में पार्टी निर्दलीय व अन्य दलों का सहयोग ले सकती है। राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो इस बार बसपा व निर्दलीय अपना खाता खोल सकते हैं, ऐसे में भाजपा कांग्रेस अभी से जोड़तोड़ की राजनीति कर सकते हैं। परिणाम से पहले दोनों दल अभी से तैयारियों में जुटी हुई हैं।

देहरादून: यूक्रेन में छिड़े युद्ध के कारण फंसे उत्तराखंड के नागरिकों की घर वापसी शुरू हो…

देहरादून: यूक्रेन के हालत कुछ भी ठीक नजर नहीं आ रहे हैं। मेट्रो स्टेशनों व फ्लैटों में दुबके छात्र अपनों से वीडियो काल से बात कर बम धमाकों की आवाजें सुना रहे हैं। इससे छात्रों के परिजन भी भयभीत हैं। यूक्रेन के विभिन्न शहरों में भारी गोलाबारी के बीच कोटद्वार और लैंसडौन के छात्र फंसे हुए हैं। कोटद्वार…

यूक्रेन में फंसे हैं उत्तराखंड के 226 नागरिक, कुछ आज पहुंच जाएंगे अपने घरदेहरादून: रुस व यूक्रेन के बीच जारी जंग के कारण उत्तराखंडवासियों की नजर भी यूक्रेन पर लगी है। क्योंकि यूक्रेन में उत्तराखंड के 226 फंसे होने की सूचना प्राप्त हुई है। उत्तराखंड सरकार लगातार विदेश मंत्रालय के संपर्क में है। शनिवार रात यूक्रेन से कुछ भारतीय एयर इंडिया के विशेष विमान से मुंबई पहुंचे। विमान में उत्तराखंड के कितने नागरिक थे, इसकी सूची अभी विदेश मंत्रालय ने उत्तराखंड सरकार से साझा नहीं की। मुंबई हवाई हड्डे पर केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मत्री पीयूष गोयल ने यूक्रेन से सुरक्षित लाए गए भारतीयों से मुलाकात की। यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के नागरिक भयभीत स्थिति में हैं। यहां लिवीव यूनिवर्सिटी के होटल में 15 छात्र फंसे हैं। ये छात्र पोलेंड और हंगरी बार्डर पर लगे जाम को खुलने का इंतजार कर रहे हैं। राहत की बात यह है कि यूनिवर्सिटी के आसपास अभी स्थिति सामान्य हैं। राशन व अन्य दुकानें भी खुली हैं। वहीं कुछ छात्र मेट्रो के बेसमेट में छिपकर रात गुजारने की बात भी सामने आई है। जिला चिकित्सालय कोरोनेशन अस्पताल के वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डा. डीपी जोशी का बेटा अक्षत खारकीव में फंसा है। यूक्रेन में फंसे…

देहरादून: यदि आप भी अपने बच्चे का दाखिला केंद्रीय विद्यालय संगठन में करवाना चाहते हैं तो केविएस ने  दाखिलों के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। कक्षा एक के लिए आनलाइन रजिस्ट्रेशन 28 फरवरी से 21 मार्च के बीच होंगे। पहली से तीसरी चयन सूची 25 मार्च से आठ अप्रैल के बीच जारी की जाएगी। इसी तरह कक्षा दो के लिए रजिस्ट्रेशन आठ से 16 अप्रैल तक होंगे। कक्षा से दो से आगे की कक्षाओं के लिए सूची 21 से 28 अप्रैल तक जारी होगी। वहीं कक्षा नौ तक प्रवेश की अंतिम तिथि 30 तक रहेगी। कक्षा एक में नामांकन प्रक्रिया में संगठन ने इस बार बदलाव किया है। कक्षा एक में नामांकन के लिए आयु सीमा पहले पांच साल निर्धारित थी। अब इसमें एक साल का विस्तार किया गया है। कक्षा एक में छह साल की उम्र में दाखिला लिया जा सकता है। रजिस्ट्रेशन के लिए kvsonlineadmission.kvs.gov.in पर संपर्क कर सकते हैं। 

देहरादून: पहाड़ी रूटों पर वाहनों की आवाजाही रात आठ बजे से सुबह पांच बजे तक बंद कर दी गई है। इस संबंध में डीआइजी गढ़वाल रेंज करन सिंह नगन्याल ने आदेश जारी किए हैं। वाहनों पर प्रतिबंध की वजह उन्होंने रात को होने वाले हादसे बताया। उन्होंने कहा कि पहाड़ी मार्ग काफी खतरनाक हैं, ऐसे में कभी-कभी वाहन चालक नींद में वाहन चलाते हैं, जिससे हादसा होने का खतरा बना रहता है। दुर्गम क्षेत्र में रात को हादसा होने पर काफी समय तक पता नहीं चल पाता, ऐसे में रेस्क्यू करने में भी मशक्कत उठानी पड़ती है।गत 21 फरवरी को चंपावत में रात को हादसा हो गया था, जिसमें 14 लोगों की मृत्यु हो गई थी। इस हादसे की सूचना भी पुलिस को देर से पता चली, जिसके कारण 14 लोगों ने अपनी जान गवां दी। डीआइजी ने बताया कि रात के समय केवल आपातकालीन वाहनों को जाने की अनुमति दी जाएगी। इस संबंध में सभी…

देहरादून: रूस व यूक्रेन के बीच शुरू हुए युद्ध से यूक्रेन में रह रहे 151 नागरिकों के स्वजनों की परेशानी बढ़ गई है। इन नागरिकों को भारत लाने के लिए सरकार हर स्तर पर कोशिश करने में जुट गई है। यूक्रेन में सबसे अधिक 39 देहरादून से हैं। इसके अलावा उधमसिंह नगर के 20, टिहरी जिले के 10, अल्मोड़ा से एक, चमोली से दो, उत्तरकाशी से सात, पौड़ी गढ़वाल से 13, हरिद्वार से 26, रुद्रप्रयाग से पांच, नैनीताल से 22 नागरिकों के यूक्रेन में फंसे होने की सूचना मिली है। उत्तराखंड सरकार की ओर से जारी की गई हेल्पलाइन नंबर 112 पर उत्तराखंडियों ने अपनों के फंसे होने की सूचना दी जा रही है। उधर, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राष्ट‌्रीय सुरक्षा सलाहकर अजीत डोभाल से फोन पर बात की। डोभाल ने बताया कि केंद्र सरकार यूक्रेन रह रहे सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित कर रही है। धमाकों से दहशत व रोटी के पड़े लाले यूक्रेन में रूस की ओर से किए जा रहे बम धमाकों से यूक्रेन में फंसे उत्तराखंड के नागरिक पूरी तरह से भयभीत हैं। यह भी सामने आ रही है कि नागरिकों को दो वक्त की रोटी तक नहीं मिल पा रहीहै। वह किसी तरह खुद को बचाने की जद्दोजहर में जुटे हुए हैं।