June 19, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

शूटकेस में पैक कर ले जा रहा था प्रेमिका का शव, होटलकर्मियों ने पकड़ा, वजह जानकर हर कोई हैरान

Spread the love

हरिद्वार: गेस्ट हाउस से सूटकेस में युवती का शव रखकर ले जा रहे युवक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस पूछताछ में युवक ने कहा कि दोनों में थे प्रेम संबंध थे। लोगों के तंज से परेशान होकर युवती ने खुद ही जहर खाया है। शव गंगनहर में फेंककर वह भी कूदकर आत्महत्या करने जा रहा था। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजकर दोनों के परिजनों को सूचना दे दी है। पुलिस का कहना है कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। तहरीर आते ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

पुलिस के अनुसार, गुरुवार शाम करीब पांच बजे हरिद्वार के ज्वालापुर निवासी युवक स्कूटी पर एक सूटकेस लेकर मुकर्रबपुर स्थित गेस्ट हाउस में कमरा लेने आया था। कमरे में सूटकेस रखकर वह चला गया। कुछ देर बाद एक युवती को लेकर आया और कमरे में चला गया। रात करीब आठ बजे वह सूटकेस लेकर नीचे उतर रहा था। पसीने में लथपथ देख मैनेजर ने उससे परेशानी पूछी। युवक ने बताया कि पेट में गैस बन रहा है। उसने बीस रुपये देकर मैनेजर से दवा लाने को कहा।

मैनेजर के जाते ही वह सूटकेस नीचे उतारने लगा। इस बीच गेस्ट हाउस की मालकिन ने सीसीटीवी कैमरे में युवक को इस हालत में देखा तो उसे शक हुआ। उसने मैनेजर को कॉल कर सूटकेस चेक करने की बात कही। मैनेजर दौड़कर आया और युवक से सूटकेस चेक करवाने की बात कही लेकिन उसने इनकार कर दिया। साथ ही वह भागने का प्रयास करने लगा। मैनेजर ने शोर मचाया तो लोगों ने युवक को पकड़ लिया। सूटकेस खोलकर देखा तो उसमें युवती का शव रखा था। सूचना मिलते ही एसओ धर्मेंद्र राठी पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे और युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

पूछताछ में आरोपी ने बताईं ये बातें
पूछताछ में आरोपी युवक ने बताया कि दोनों का आठ साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मोहल्ले के लोगों को इसकी भनक लग गई थी। इसे लेकर वह युवती पर तंज कसते थे जिससे वह परेशान थी। इसे लेकर दोनों ने आत्महत्या करने की ठान ली थी। बताया कि कलियर आने से पहले ही युवती ने जहर खा लिया था। गेस्ट हाउस में पहुंचने के कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई थी। उसने शव को सूटकेस में बंद किया और गंगनहर में फेंकने जा रहा था। इसके बाद वह भी गंगनहर में कूदकर आत्महत्या करने वाला था।

About Author