June 13, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

प्रतीकात्मक फोटाे

प्रतीकात्मक फोटाे

Shri Krishana Janmashtami : पौड़ी जिले के इस गांव में नहीं मनाई गई जन्माष्टमी, गलियों में बांसुरी बजाते न तो कान्हा दिखे न राधा नजर आइ, पसरा रहा सन्नाटा, भावुक कर देगी वजह

Spread the love

पौड़ी: देशभर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार धूमधाम से मनाया गया। वहीं, उत्तराखंड में पौड़ी में एक ऐसा भी गांव है जहां पर श्रीकृष्ण जन्मोत्सव नहीं मनाया गया। इसकी वजह जानकर आप भी भावुक हो जाएंगे। दरअसल, श्रीनगर के ढिकाल गांव में गुलदार के हमले में चार साल की बच्ची की मौत के बाद से पूरा गांव शोक में है। 40 परिवारों के इस गांव में पहली बार जन्माष्टमी पर सन्नाटा छाया रहा। गांव में किसी भी परिवार ने जन्माष्टमी का पर्व नहीं मनाया। लोगों ने भगवान कृष्ण से बस एक ही प्रार्थना की कि ऐसी त्रासदीपूर्ण घटना कभी किसी के साथ ना हो।

दरअसल बीती पांच सितंबर को गांव की रहने वाली चार साल की आयसा अपनी दादी कमला देवी का हाथ पकड़कर घर के पास ही खड़ी थी। इसी दौरान आयशा पर गुलदार ने हमला कर दिया। दादी कमला देवी ने आयसा को गुलदार की पकड़ से छुड़ाने का काफी प्रयास किया, लेकिन गले में गहरा जख्म होने के चलते उसकी मौत हो गई। इस घटना के तीन दिन बाद गांव में यह पहली जन्माष्टमी थी, लेकिन शोक में डूबे ग्रामीणों ने किसी तरह का कोई आयोजन नहीं किया।

About Author