June 19, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

देहरादून के राजपुर रोड स्थित रिलायंस शोरूम में स्टाफ से पूछताछ करते एसएसपी अजय सिंह।

रिलायंस शोरूम डकैती : बदमाशों ने गुरुग्राम से दो महीने पहले चुराई थी घटना में इस्तेमाल बाइकें, कार के भी चेसिस व इंजन नंबर घिस डाले

Spread the love

देहरादून: राजपुर रोड स्थित रिलायंस शोरूम में डकैती की योजना अचानक नहीं बल्कि काफी समय पहले ही बन गई थी। बदमाशों ने डकैती की घटना के लिए जिन वाहनों (कार व दो बाइकें) बरामद की हैं, वह सहसपुर क्षेत्र से बरामद हुई हैं। आरोपितों ने यह बाइकें गुरुग्राम से चुराई थी और कार के चेसिस व इंजन नंबर घिसे हुए थे। पुलिस को आशंका है कि बदमाशों ने डकैती की घटना को अंजाम देने के लिए यह वाहन चोरी किए और बाद में इन्हीं वाहनों से डकैती की घटना को अंजाम दिया।

शुक्रवार को डकैती की घटना को उस समय अंजाम दिया गया जब राष्ट्रपति शहर में थी। जिस समय डकैत गहने लेकर फरार हुए उस समय राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु का संबोधन चल रहा था जबकि पूरी पुलिस राज्य स्थापना दिवस कार्यक्रम में व्यस्त थी। जांच में सामने आया है कि डकैतों ने अपने वाहन होटल पैसेफिक के आसपास खड़ा करके चले गए। डकैती की घटना को अंजाम देने के बाद वह सहारनपुर रोड से शिमला बाइपास चौक पहुंचे यहां से उन्होंने पावंटा साहिब वाला रूट पकड़ा। पुलिस अलर्ट हुई तो बदमाशों ने अपने दो बाइक सहसपुर में छोड़ दिया, इसके बाद बस व अन्य माध्यम से फरार हुए। उनकी एक कार सेलाकुई क्षेत्र से बरामद हुआ है। इससे यह भी लग रहा है कि बदमाश अलग-अलग वाहनों व अलग-अलग रूटों से फरार हुए।

पुलिस जांच में कार से तीन अलग-अलग राज्यों की नंबर प्लेट भी बरामद हुई हैं। पुलिस को भ्रमित करने के लिए उन्होंने यह नंबर प्लेट रखी हुई थी। वहीं बाइकों के बारे में जब पुलिस ने पता करवाया तो जानकारी मिली कि इन बाइकों के चोरी संबंधी मुकदमे गुरुग्राम में दर्ज हैं और यह बाइकें दो माह पहले चोरी हुई थी। कार के मालिक के बारे में पता न चल सके इसलिए बदमाशों ने चेसिस नंबर व इंजन नंबर पूरी तरह से घिसे हुए थे। आरोपितों के यमुनानगर की तरफ फरार होने की संभावना जताई जा रही है, जिसके बाद पुलिस टीमें उनके पीछे लगी हुई है।

बदमाशों की धरपकड़ के लिए टीमें रवाना: एसएसपी

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि अब तक हुई जांच में पूर्व की आधा दर्जन घटनाओं से एक गैंग प्रकाश में आया है, जोकि महीनो पहले प्लानिंग करता है फिर घटना को अंजाम देता है। बदमाशों की धरपकड़ के लिए विभिन्न टीम को अलग-अलग टास्क दिए गए हैं। थोड़ा समय लग सकता, लेकिन गैंग का जरूर पर्दाफाश किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पुलिस को काफी इनपुट्स मिले हैं, जिस पर पुलिस काम कर रही है।

About Author