June 16, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे हादसा: ‘कमिंग सून’ संदेश भेजकर हमेशा के लिए चली गई पिंकी, 12 को उठनी थी डोली

Spread the love

ऋषिकेश: नियती का खेल भी अजीब होता है। वाण मंदोली, थराली, चमोली की रहने वाली पिंकी की 12 मई को डोली उठनी थी। परिवार के लोग शादी की तैयारियों में जुटे थे वहीं पिंकी भी शादी के लिए शापिंग में लगी हुई थी। पिंकी को आठ मई को अपने घर वाण मंदोली, थराली, चमोली पहुंचना था।

सुबह जब वह अपने मामा-मामी व भाई-बहन के साथ मुनिकीरेती से चमोली के लिए रवाना हुए तो व्यासी पहुंचकर पिंकी ने अपने वाट्सएप से अपने घर पर यह संदेश दिया ‘कमिंग सून’ यानी जल्दी पहुंच रहे हैं। उसे भी नहीं पता था कि घर वालों के लिए उसका यह आखरी संदेश होगा।थोड़ी ही देर बाद उनकी कार बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर तोता घाटी में दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे में पिंकी उसके मामा प्रताप सिंह, मामी भागीरथी देवी और भाई-बहन की मृत्यु हो गई। 

देवप्रयाग थाना के वरिष्ठ उप निरीक्षक अनिरुद्ध मैठाणी ने बताया कि दुर्घटना स्थल से मृतकों के मोबाइल प्राप्त किए गए। उनके मोबाइल से उनके घरवालों के बारे में जब जानकारी जुटाने की कोशिश की गई तो पिंकी के मोबाइल में यह संदेश मिला। जिस पिंकी के दो दिन बाद हाथ पीले होने वाले थे, उसकी शादी का सामान खाई में चारों ओर बिखरा हुआ था।

About Author