June 25, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

सास करती थी रोक-टोक, बहु ने सुपारी देकर करवा दी हत्या, देहरादून का है मामला

Spread the love

देहरादून: राजधानी देहरादून की तहसील डोईवाला में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां बहु ने अपनी सास की हत्या इसलिए करवा दो क्योंकि वह रोक-टोक करती थी। पुलिस ने घटना के कुछ समय बाद ही आरोपी बहु, नौकर व दो सुपारी किल्लर को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी देहरादून अजय सिंह ने बताया कि पांच जून को कोतवाली डोईवाला में जगदेव सिंह निवासी रेशम माजरी थाना डोईवाला देहरादून ने बताया कि उनकी माता कुलदीप कौर उम्र- 55 वर्ष जो घर के आँगन में सो रही थी। उनकी दुकान पर काम करने वाले आवेश अंसारी उर्फ छोटू तथा दो अन्य अज्ञात आरोपियों ने उनकी माता की गला घोटकर हत्या कर दी।

इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच की गई। सीओ डोईवाला अभिनव चौधरी व प्रभारी निरीक्षक डोईवाला विनोद गुसांई ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया। मामले में आरोपी आवेश अंसारी उर्फ छोटू, सोनू व राहुल सभी निवासी ग्राम बसेडी कोतवाली लक्सर जिला हरिद्वार को जनपद हरिद्वार ग्राम बसेडी बस अड्डे से गिरफ्तार किया। घटना का सफल अनावरण किया गया

पूछताछ में गिरफ्तार मुख्य आरोपी आवेश अंसारी उर्फ छोटू ने बताया कि वह पिछले 6-7 महीने से जगदेव सिंह (मृतक महिला का बेटा) निवासी रेशम माजरी निकट फनवैली की वर्कशॉप पर मैकेनिक का कार्य कर रहा है। वह जगदेव सिंह के घर पर ही उनके परिवार के साथ रहता है। जगदेव सिंह की पत्नी ज्योति उर्फ डिम्पी को अपनी धर्म बहन बनाया हुआ है। जगदेव सिंह की माता कुलदीप कौर जोकि बात-बात पर बहुत रोक-टोक करती थी, जिससे उनकी पुत्रवधु ज्योति उर्फ डिम्पी बहुत परेशान व प्रताडित थी। ज्योति उर्फ डिम्पी ने सास को रास्ते से हटाने की योजना बनाई और आवेश अंसारी के साथ एक लाख रुपये में सौदा किया। आवेश ने अपने गाँव के दो लडके सोनू व राहुल से सम्पर्क किया और कुलदीप कौर की हत्या करवाने की सुपारी दी। तीनों ने मिलकर बुजुर्ग का गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी।

घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम
विनोद सिंह गुसाई- प्रभारी निरीक्षक डोईवाला
दीपक सिंह रावत –व0उ0नि0 डोईवाला
देवेश खुगसाल – चौकी प्रभारी लालतप्पड
हे0का0 देवेन्द्र नेगी – कोतवाली डोईवाला
हे0का0 प्रवीण सिन्धु – कोतवाली डोईवाला
कानि0 हँसराज सिंह– कोतवाली डोईवाला
कानि0 धर्मेन्द्र नेगी – कोतवाली डोईवाला

About Author