June 14, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

हरिद्वार पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए गए छह आरोपी।

धर्मनगरी में अधर्म : प्रयागराज की दो नाबालिग बहनों को हरिद्वार लाकर जिस्मफिरोशी के धंधे में धकेलने का प्रयास, घर में बनाया हुआ था बंधक, छह आरोपी गिरफ्तार, लंबे समय से गोरखधंधे में पड़े थे आरोपी

Spread the love

हरिद्वार: धार्मिक नगरी हरिद्वार में मानव तस्करी का एक बड़ा मामला सामने आया है। एक गिरोह प्रयागराज की दो नाबालिग बहनों को हरिद्वार लाकर जिस्मफरोशी के धंधे में धकेलने की तैयारी कर रहा रहा था। इसकी भनक लगते ही पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा गिरोह में अन्य सदस्यों के होने की संभावना भी जताई जा रही है।

एसएसपी हरिद्वार परेंद्र डोबाल ने रानीपुर कोतवाली क्षेत्र के संजय नगर टिबड़ी स्थित एक मकान में दो नाबालिग बहनों को बंधक बनाकर रखा गया था। उन्हें नौकरी देने का झांसा देकर हरिद्वार लाया गया था।रानीपुर कोतवाली क्षेत्र के संजय नगर टिबड़ी स्थित एक मकान में दो नाबालिग बहनों को बंधक बनाकर रखा गया था। दोनों को नौकरी देने का झांसा देकर हरिद्वार लाया गया था। दोनों बहनों को जिस्मफरोशी के धंधे में धकेलने की तैयारी थी। जिस पर एएचटीयू प्रभारी राकेंद्र कठैत की देखरेख में पुलिस टीम ने मौके पर छापा मारा। इस दौरान 17 व 14 वर्षीय किशोरियों को बरामद करते हुए आरोपी आलोक को हिरासत में लिया गया।

पूछताछ में पता चला कि प्रयागराज से दो सगी बहनें भागकर दिल्ली आई थीं। आरोपी आलोक ने उन्हें नौकरी देने का झांसा दिया और हरिद्वार ले आया। यहां टिबड़ी में अपने किराये के मकान में उन्हें रख लिया। आरोपी ने जिस्मफरोशी की एवज में रोजाना 10 हजार मिलने की बात दोनों को कही। आरोपी की पत्नी उन्हें देह व्यापार में धकेलने के लिए कुछ लोगों से बात करने गई थी।दोनों को जिस्मफरोशी के धंधे में धकेलने की तैयारी थी।

About Author