June 16, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

Breaking : बुआ को नहीं हुआ संतान तो गोद दिलवाने के लिए मासूम के अपहरण की बनाई योजना, पुलिस ने महिला समेत तीन को किया गिरफ्तार, कहानी सुनकर आप भी रह जाएंगे हैरान

Spread the love

हरिद्वार: हरिद्वार के रोड़ीबेलवाला मैदान से छह वर्षीय मयंक का अपहरण सहारनपुर जिले के कस्बा देवबंद निवासी दो युवकों ने निसंतान महिला को गोद देने के लिए किया था। एक आरोपी की रिश्ते की बुआ ने बच्चा गोद दिलवाने की इच्छा जताई थी। जिसके बाद उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर अपहरण का ताना-बाना बुना। पुलिस ने महिला सहित तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश कर दिया।

घटना का खुलासा करते हुए नगर पुलिस अधीक्षक स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि रोड़ीबेलवाला मैदान निवासी गंगा पत्नी अरविंद के छह वर्षीय पुत्र मयंक का नौ दिसंबर को अपहरण कर लिया गया था। इस मामले में पुलिस टीमें सीसीटीवी कैमरे चेक करते हुए सहारनपुर के कस्बा देवबंद तक ट्रेस करते हुए पहुंची थीं। 16 दिसंबर को देवबंद के हंसवाड़ा से बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया था। जबकि अपहरणकर्ताओं की तलाश में दबिश दी जा रही थीं।

हरिद्वार से बच्चा उठाने की बनाई योजना

एसपी सिटी ने बताया कि मनीष कुमार (19 वर्ष) निवासी गांधी कॉलोनी लालवाला रोड थाना देवबंद जिला सहारनपुर और विशाल (20 वर्ष) निवासी ग्राम रणखंडी खालापट्टी थाना देवबंद ने रोड़ीबेलवाला से बच्चे का अपहरण किया था। मनीष की रिश्ते की बुआ साक्षी निवासी फौलादपुरा थाना देवबंद ने उसे बच्चा गोद दिलाने के लिए कहा था। जिसके बाद उसने अपने दोस्त विशाल के साथ मिलकर हरिद्वार से बच्चा उठाकर उसे लाकर देने की योजना बनाई। गांव के ही शैंकी ने शुक्रवार को गिरफ्तार हुए बाइक चोर बिट्टू और सतीश से बाइक पंजाब के पातड़ां से खरीदी थीं। इसी बाइक को नौ दिसंबर को दोनों आरोपी मांगकर हरिद्वार लेकर गए और अपहरण की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद बच्चे को सीधे साक्षी के घर ले गए। बच्चे के अपहरण के बाद पुलिस की तलाश करने की जानकारी मिलने के बाद साक्षी ने 16 दिसंबर की शाम को हंसवाडा में खाटू श्याम मंदिर के पास बच्चे को छोड़ा था। जहां से उसे बरामद कर लिया गया था।

About Author