June 25, 2024

GarhNews

Leading News Portal of Garhwal Uttarakhand

अंधा प्यार : महिला को हलवाई से हुआ प्यार, पति आड़े आया तो प्रेमी से करवा दी हत्या, पुलिस ने महिला व उसके प्रेमी को किया गिरफ्तार

Spread the love

देहरादून: राजधानी में एक महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या करवा दी। पति को रास्ते से हटाने के लिए महिला ने खुद को प्रेमी को तैयार किया। बहरहाल पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है देहरादूनर के विकासनगर में दो दिन पहले डाकपत्थर क्षेत्र में एक व्यक्ति का शव बरामद मिला था। मृतक के शरीर पर चोट व खरोंच के निशान थे। 20 अक्टूबर को मृतक की पहचान अरुण कुमार उर्फ जुगनू निवासी ग्राम बुलाकीवाला के रूप में हुई। इस मामले में विकासनगर कोतवाली पुलिस ने मृतक के भाई नितिन कुमार की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया।

पुलिस ने घटनास्थल व क्षेत्र के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो पता चला कि घटना वाले दिन अरुण आरोपित परम सिंह उर्फ गुड्डू निवासी मोहल्ला शिवपुरी कस्बा, थाना धनौरा मंडी जिला अमरोहा (उत्तर प्रदेश) के साथ गया था। पुलिस ने आरोपित परम सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने बताया कि मृतक अरुण की पत्नी रमिता निवासी बुलाकीवाला के कहने पर उसने अरुण की हत्या की। इस पर पुलिस ने साजिश में शामिल मृतक की पत्नी रमिता को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मृतक की बाइक व पैंट, घटना में प्रयुक्त गमछा घटनास्थल से बरामद किया।

परम की रमिता से एक होटल में हुई थी मुलाकात

पूछताछ में आरोपित परम सिंह ने बताया कि वह हलवाई का काम करता है। शादी में काम के सिलसिले में विकासनगर आता रहता है। अरुण सिंह की पत्नी रमिता से उसकी मुलाकात एक वर्ष पूर्व एक विवाह समारोह के दौरान हुई थी। इसके बाद वह रमिता से विकासनगर में अलग-अलग जगह मिलने लगा। रमिता ने उसे बताया कि सब्जी की ठेली लगाने वाला उसका पति अरुण अक्सर शराब पीकर उसके साथ मारपीट करता है। यदि उसे रास्ते से हटा दिया जाए तो वे दोनों आसानी से एक दूसरे के साथ रह सकते हैं। जिस पर उसने रमिता के साथ मिलकर अरुण को रास्ते से हटाने की योजना बनाई।

इस तरह से की गई अरुण की हत्या

योजना के मुताबिक आरोपित परम सिंह 18 अक्टूबर को अपने कारीगरों के साथ ट्रेन से सहारनपुर से देहरादून आया। कारीगरों को विकासनगर में एक समारोह स्थल पर छोड़ने के बाद उसने अरुण को फोन कर मिलने के लिये बुलाया। विकासनगर में ठेके से उसने देशी शराब खरीदी। अरुण के आने पर उसके साथ जलालिया होते हुए यमुना नदी के किनारे गया। जहां उसने अरुण को शराब पिलाई। जैसे ही अरुण पेशाब करने के लिए यमुना किनारे गया तो उसने पीछे से गमछे से उसका गला घोंटकर हत्या कर दी और शव यमुना में फेंक दिया। इसके बाद वह अरुण की बाइक लेकर विकासनगर आया और रसूलपुर में बाइक को एक गली में खड़ी करके वहां से वाहन पकड़कर विवाह स्थल पर चला गया। आरोपित विकासनगर से हिमाचल प्रदेश भागने की फिराक में था, इससे पहले ही दून पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

About Author